New attitude shayari 2020 एट्टीट्यूड शायरी इन हिंदी

New attitude shayari 2020 एट्टीट्यूड शायरी इन हिंदी

Author:
Price:

Read more




जो मिल गया उसी को मुकद्दर समझ लीजिये
खुश रहिये खुद को, सिकंदर समझ लीजिये


जितनी दे दी खुदा ने
संभालिये उसीको
जो हो न सका आपका
भूल जाइये सभीको


छोटी दरिया सही, समन्दर समझ लीजिये
जो मिल गया उसी को, मुकदर समझ लीजिये


देखिये ज़रा इधर
गौर तो फर्माइये
आप से भी कम है जो
उनको देख आइये


दे दी जितनी राम ने, सुन्दर समझ लीजिये
खुश रहिये खुद को, सिकन्दर समझ लीजिए

चार दिन की जिन्दगी
जाना नहीं कुछ लेकर
निश्चय यही कीजिये
जायेंगे कुछ दे कर
खुद को वाहेगुरु का,कलन्दर समझ लीजिये
खुश रहिये अपने को, सिकन्दर समझ लीजिए

ज़िन्दगी

फैज फजल फाजिल, धारदार जिन्दगी
नाशस्ती नाशिनास तो, बेकार जिन्दगी

मुस्तनद मुन्फ़िद हो, मुस्तफीद के साथ
बुलन्द-पाया पाक, रुआबदार जिन्दगी

झूठ कपट क्षुद्र छल...... , लूट मार हिंसा
अनाचार व्यभिचार, नाम्स नार जिन्दगी

जानिय जमाल जीनत, पूरी कायनात
शिल्पी हम खुद, शिल्पकार जिन्दगी

आशिकी इश्क प्यार, गुलबदन गुलफाम
नजर उठा के देख लो, गुलनार जिन्दगी

प्यार देना प्यार लेना, मंजिले फराग
शायद नहीं मिले ये बार बार जिन्दगी

अर्श यहीं जन्नत,... फिरदौस यहीं पर
जीना है तो जी लो,शानदार जिन्दगी
फैज - स्वतन्त्रता फजल - सुबुद्धि
नाशस्ती वेईमानी
मुस्तनद - प्रतिष्ठित मुनिकद - अलग अन्दाज़

इन्सान

तौफीके जिन्दगी हो, उन्वान होना चाहिए
चाहे कुछ हो न हो, इन्सान होना चाहिये..

असफार चाहे हो कठिन, रास्ते तारीक..
उस्तुवारे-जिगर आसान होना चाहिये

दोस्त पे हो जां फिदा, रिश्तों की बन्दगी.
हरीफे-बहार को , तूफान होना चाहिए,

दुनिया में आ गये तो, दे दै कुछ अच्ण
विदा हो जहां से तो, निशान होना चाहिये.

हौसले बुलन्द हाँ , खयालों में ताज़गी.
मुट्ठी में जमी ओ आसमान होना चाहिये...


सैड शायरी,SAD SHAYARI IN HINDI