DMCA.com Protection Status

“जब कोई ख्याल दिल से टकराता है,

दिल न चाह कर भी, खामोश रह जाता है,

कोई सब कुछ कहकर, प्यार जताता है,

कोई कुछ न कहकर भी, सब बोल जाता है”

“वो दर्द ही क्या जो आँखों से बह जाए,

वो खुशी ही क्या जो होठों पर रह जाए,

कभी तो समझो मेरी खामोशी को,

वो बात ही क्या जो लफ्ज़ आसानी से कह जायें”

“बस इतना ही कहा था,

कि बरसो के प्यासे हैं हम,

उसने अपने होठों पे होंठ रख के,

हमे खामोश कर दिया”

“बोतल पे बोतल पीने से क्या फायदा,

मेरे दोस्त, रात गुजरेगी तो उतर जाएगी,

पीना है तो सिर्फ एक बार किसी की बेवफाई पियो,

प्यार की कसम, उम्र सारी नशें में गुजर जाएगी”

“कहानी बन के जियें हैं, वो दिल के आशियानों में,

हमको भी लगेगी सदियाँ, उन्हें भुलाने में”

“हुस्न पर जब भी मस्ती छाती है,

तब शायरी पर बहार आती है,

पीके महबूब के बदन की शराब,

जिंदगी झूम-झूम जाती है”

“जाने कब-कब किस-किस ने कैसे-कैसे तरसाया मुझे,

तन्हाईयों की बात न पूछो महफ़िलों ने भी बहुत रुलाया मुझे”

“जिस्म तो बहुत संवार चुके रूह का सिंगार कीजिये,

फूल शाख से न तोड़िए खुशबुओं से प्यार कीजिये”

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *